how to stop biting habit in toddlers: Kids biting habit : बच्‍चे को लग गई काटने की लत, डांट नहीं इस तरीके से छूटेगी ये बुरी आदत – how to stop biting habit in toddlers in hindi

बच्‍चों को अक्‍सर काटने की आदत लग जाती है। कभी वो अपने साथ के बच्‍चों को काट लेते हैं तो कभी दूध पीते समय मां की ब्रेस्‍ट पर ही काट लेते हैं। क्‍या आपने कभी सोचा है कि बच्‍चों को ये काटने की आदत क्‍यों लगती है और इस बुरी आदत को आप कैसे छुड़ा सकती हैं।

​क्‍यों काटते हैं बच्‍चे

बच्‍चे तभी काटते हैं, जब उन्‍हें कोई चीज ट्रिगर करती है, जैसे कि :

बच्‍चे बोलकर तो अपनी बात कह नहीं पाते हैं और ऐसे में अपनी बात समझाते-समझाते, वो फ्रस्‍ट्रेट हो जाते हैं। इस फ्रस्‍टेशन को जाहिर करने के लिए बच्‍चे काटते हैं।

भाई या बहन से अपनी पसंद का खिलौना न मिलने पर भी बच्‍चे खीझ में काटने लग जाते हैं। भूख लगने और थकान होने पर भी बच्‍चा काट सकता है। मां या अपने आसपास के व्‍यक्‍ति का ध्‍यान खींचने के लिए भी बच्‍चे काट लेते हैं।

दांत निकलने पर भी बच्‍चे काटते हैं। इस समय बच्‍चों के मसूड़ों में दर्द होता है और काटने से उन्‍हें थोड़ा आराम महसूस होता है।

यह भी पढ़ें : प्रेग्‍नेंसी में मां की क्रेविंग पूरी न हो, तो बच्‍चे के मुंह से टपकती है लार, कितनी है इस बात में सच्‍चाई

​क्‍या नॉर्मल है बच्‍चों का काटना

बच्‍चे दूसरों को ही नहीं बल्कि खुद को भी काट लेते हैं। दांत निकलने पर या गुस्‍सा आने पर बच्‍चा खुद को काट सकता है।

बच्‍चों में काटने की आदत होना नॉर्मल बात है और इसका आगे चलकर बच्‍चे के स्‍वभाव पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता है। हालांकि, बच्‍चों में इस बुरी आदत को छुड़ाना भी जरूरी होता है।

यह भी पढ़ें : बच्‍चों के दांत आने पर क्‍यों शुरू हो जाते हैं दस्‍त

​काटने की आदत कैसे छुड़ाएं

बच्‍चे ने जिस इंसान को काटा है, उसके पास से उसे प्‍यार से दूर ले जाएं। बच्‍चे पर चिल्‍लाएं नहीं और न ही उसे डांटें। बच्‍चे को दूसरों के सामने डांटे नहीं। इससे वह रोने लग सकता है और न ही खुद शर्मिंदगी महसूस करें क्‍योंकि बच्‍चों का ऐसा करना तो नॉर्मल बात होती है।

कई बार बच्‍चे एक ही चीज के ट्रिगर करने पर काटते हैं। आप उस ट्रिगर प्‍वाइंट का पता लगाएं और जितना हो सके उसे उस प्‍वाइंट से दूर रखें। बच्‍चे भूख लगने या थकान होने पर भी काटते हैं। ऐसे में सबसे पहले उसे खाना खिलाएं या सुला दें।

यह भी पढ़ें : दांत निकलने की वजह से रो रहा है बच्‍चा, इन तरीकों से दिलाएं आराम

​बच्‍चे को कैसे समझाएं

आप बच्‍चे को प्‍यार से समझाएं कि काटना या दूसरों को चोट पहुंचाना बुरी बात है। गुस्‍से में उन्‍हें अपने किसी दोस्‍त को काटना नहीं चाहिए। बच्‍चों को सही और गलत के बीच पहचान करना नहीं आता है और ये आप ही उसे समझा सकते हैं।

जब बच्‍चा बोलने लग जाता है, तो वह अपनी बात आसानी से कह पाता है और अब उसे अपनी बात समझाने के लिए काटने की जरूरत नहीं पड़ती है। आप बच्‍चे में लैंग्‍वेज स्किल्‍स डेवलेप करने की कोशिश करें। जैसा कि हमने पहले भी बताया कि कई बार बच्‍चे दांत आने पर काटना शुरू कर देते हैं क्‍योंकि इससे उन्‍हें आराम मिलता है।

ऐसे में आप बच्‍चे के लिए टीथिंग टॉय रखें। बच्‍चा इसे दांतों से चबाकर दांत निकलने पर होने वाले दर्द को कम कर सकता है और फिर उसे काटने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *