Pregnancy Test With Dettol at Home : अब आप डेटॉल से भी घर पर कर सकती हैं प्रेग्नेंसी टेस्ट, जानिए प्रेग्‍नेंसी टेस्‍ट करने का सही तरीका

पीरियड्स रुक गए हैं। अब आपको डाउट है कि कहीं आप प्रेग्नेंट तो नहीं? ऐसे में क्या करेंगी? घर से बाहर जाएंगी, प्रेग्नेंसी किट खरीदेंगी। इसके बाद अपनी जांच करेंगी। जरा रुकिए! जरूरी नहीं है कि प्रेग्नेंसी किट ही गर्भावस्था की परख करने का आखिरी विकल्प है।
आप हर घर में मौजूद डेटाॅल की मदद से भी अपनी प्रेग्नेंसी को कन्फर्म कर सकती हैं। लगभग हर घर में डेटाॅल होता है। डेटाॅल की मदद से आप घर पर अपनी प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं। जानना चाहती हैं कैसे? तो लेख आगे पढ़िए।

​किन चीजों की जरूरत है

इसके लिए आपको एक चम्मच डेटाॅल और एक छोटा सा खाली डिब्बा या डिस्पोसेबल गिलास की जरूरत होगी। डेटाॅल से प्रेग्नेंसी कन्फर्म करने के लिए हमेशा सुबह का पहला यूरिन जरूरी होता है।

इस टेस्‍ट के लिए सबसे पहले खाली डिब्बे में यूरिन स्टोर करें। जितना यूरिन आपने डिब्बे में स्टोर किया है, उससे कम मात्रा में डेटाॅल एक अन्य गिलास में लें। अब यूरिन और डेटाॅल को आपस में मिला लें और पांच मिनट तक इंतजार करें।

यह भी पढ़ें : आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं, बिना टेस्‍ट के ऐसे पहचानें

​डेटाॅल से किया गया प्रेग्नेंसी टेस्ट का रिजल्‍ट

जांच के बाद आपको इंतजार करना होगा कि आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं। इसलिए आपको यह पता होना चाहिए कि इसके परिणाम को कैसे जांचा जाता है।

यदि यूरिन और डेटाॅल को आपस में मिलाने से घोल झागदार हो जाता है, तो इसका मतलब है कि रिजल्ट पाॅजीटिव आया है। यदि घोल में किसी भी तरह का बदलाव नहीं आता है, तो इसका मतलब है कि टेस्ट नेगेटिव है।

​कितना एक्‍यूरेट है डेटॉल प्रेग्‍नेंसी टेस्‍ट

इससे पहले कि हम डेटाॅल से किए गए प्रेग्नेंसी टेस्ट से मिले रिजल्ट पर बात करें, यह जान लेना जरूरी है कि आखिर ये घोल हमें परिणाम कैसे देता है? गर्भवती महिला के यूरिन में एचसीजी हार्मोन का स्तर सबसे ज्यादा होता है। वैसे भी यूरिन में यूरिक एसिड पाया जाता है जबकि डेटॉल में मुख्य कंपाउंड क्लोरोक्सिलीनॉल होता है।

माना जाता है कि जब क्लोरोक्सिलीनॉल के साथ यूरिन का मुख्य कंपाउंड मिलता है, तो केमिकल रिएक्शन होता है। इससे यूरिन का रंग बदल सकता है या फिर झाग बन सकते हैं। इस प्रक्रिया से जाना जा सकता है कि महिला गर्भवती है या नहीं।

यह भी पढ़ें : घर पर नमक से करें प्रेग्नेंसी टेस्ट, जानें तरीका

​क्‍या है सबूत

अब तक ऐसे कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं आए है, जो इस तरह प्रेग्नेंसी को कन्फर्म करने की पुष्टि करते हैं। इसके बावजूद घरेलू नुस्खों के तौर पर इस तरीके को आजमाया जा सकता है।

यह बिल्कुल सुरक्षित है। इस जांच में किसी तरह का रिस्क नहीं है। इसके बावजूद विशेषज्ञों की सलाह मायने रखती है। आप इस तरीके को वैकल्पिक तौर पर अपना सकती हैं। इसके बाद आप प्रेग्नेंसी किट का उपयोग कर अपनी प्रेग्नेंसी को पूरी तरह कंफर्म कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : क्‍या है होम प्रेग्नेंसी टेस्ट किट यूज करने का सही तरीका और समय

​डाॅक्टर के पास कब जाएं

डेटाॅल प्रेग्नेंसी टेस्ट के साथ अगर आपको कुछ लक्षण नजर आ रहे हैं तो अपनी प्रेग्नेंसी कन्फर्म करवाने के लिए डाॅक्टर से चेकअप जरूर कराएं। ये लक्षण और संकेत इस प्रकार हैं-

  • थकान
  • पीरियड्स मिस होना
  • मितली
  • उल्ट
  • बार-बार मूड स्विंग होना
  • सिरदर्द होना
  • बार-बार पेशाब आना।
  • स्तनों में दर्द महसूस होना।

यह भी पढ़ें : होम प्रेग्नेंसी टेस्ट से जुड़ी ये बातें कर देंगी हैरान

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *