30 percent children in the country are suffering from iron deficiency, claimed in the survey conducted on 33 thousand children says nin survey | देश में 30 फीसदी बच्चे आयरन की कमी से जूझ रहे हैं, 33 हजार बच्चों पर हुए सर्वे में किया गया दावा

  • Hindi News
  • Happylife
  • 30 Percent Children In The Country Are Suffering From Iron Deficiency, Claimed In The Survey Conducted On 33 Thousand Children Says Nin Survey

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

देश में एक तिहाई बच्चे और किशोरावस्था से गुजर रहीं लड़कियों में आयरन की कमी है। यह बात हैदराबाद के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन की सर्वे में सामने आई है। सर्वे में देशभर के 33 हजार बच्चे शामिल किए गए थे। सर्वे की सबसे चौंकाने वाली बात है कि एनीमिया के मामले गांव और गरीब परिवारों के बच्चों में अधिक देखे गए जबकि इनमें आयरन का स्तर बेहतर था। वहीं, शहरी बच्चों में ऐसा नहीं देखा गया।

हीमोग्लोबिन के लिए दूसरे पोषक तत्व भी जरूरी
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन की सीनियर साइंटिस्ट डॉ. भारती कुलकर्णी का कहना है, शरीर में हीमोग्लोबिन का पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी है। यह खानपान और उसकी क्वालिटी से ही संभव है। इसके लिए आयरन के अलावा भी कई पोषक तत्वों का खानपान में होना जरूरी है।

हीमोग्लोबिन की कमी हुई तो संक्रमण का खतरा
डॉ. भारती कहती हैं, गरीब तबके के बच्चों के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी का बड़ा कारण खानपान में पोषक तत्वों की कमी है। ऐसी जगहों पर रहने वाले लोगों में संक्रमण के मामले बढ़ते है, नतीजा शरीर में आयरन को एब्जॉर्ब करने की क्षमता और हीमोग्लोबिन बनने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।

हीमोग्लोबिन की जांच से एनीमिया का पता चलता है
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन की डायरेक्टर डॉ. हेमलता आर का कहना है, सर्वे में दौरान आमतौर पर ब्लड में हीमोग्लोबिन का स्तर जांचा जाता है। इससे आयरन की कमी का पता लगाया जाता है। ऐसे लोगों में एनीमिया के मामले बढ़ने पर आयरन सप्लिमेंट या दवाएं दी जाती हैं।

आयरन की कमी होने पर शरीर में क्या बदलाव होते हैं

1. अक्सर थकान बनी रहना
कारण:
आयरन की कमी होने पर शरीर में हीमोग्लोबिन का लेवल गिरता है। यही हीमोग्लोबिन शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए जिम्मेदार है। ऐसा होने पर शरीर में ऑक्सीजन सर्कुलेट नहीं हो पाती और थकान बनी रहती है।

2. स्किन का पीला पड़ना
कारण:
ब्लड में मौजूद आरबीसी में हीमोग्लोबिन की कमी होने पर रक्त का रंग हल्का पड़ जाता है। मरीज के शरीर में यही हल्का ब्लड सर्कुलेट होता है, इसलिए स्किन पर लालिमा की जगह पीलापन दिखने लगता है। ऐसा लक्षण दिखने पर डॉक्टरी सलाह लें।

3. सांस लेने में तकलीफ
कारण: हीमोग्लोबिन घटने से शरीर में ऑक्सीजन की कमी होती है। यही वजह है कि चलने-फिरने पर सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। ऐसा होने पर शरीर बाहर से अधिक ऑक्सीजन घसीटने की कोशिश करता है और इंसान हांफता हुआ नजर आता है।

4. सिरदर्द और बेहोशी
कारण:
इसके मामले ज्यादातर महिलाओं में नजर आते है। इसकी साफ वजह अब तक सामने नहीं आ पाई है, लेकिन वैज्ञानिकों का मानना है कि ब्लड में ऑक्सीजन की कमी होने पर सिरदर्द और चक्कर आने की शिकायत हो सकती है।

5. स्किन और बालों में सूखापन रहना
​​​​​​​कारण:
स्किन और बालों में सूखेपन की वजह भी शरीर में ऑक्सीजन की कमी को बताया गया है। शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने पर स्किन और बालों की कोशिकाओं की ग्रोथ पर असर पड़ता है। इनमें ड्रायनेस नजर आती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *