Warning: Use of undefined constant REQUEST_URI - assumed 'REQUEST_URI' (this will throw an Error in a future version of PHP) in /home/trafficads/public_html/healthblogs.pro/wp-content/themes/colormag/functions.php on line 73
Coronavirus Airborne | Coronavirus Disease Latest Research; COVID Patient Can Infect 23 Passengers | एयरकंडीशन बस में कोरोना का एक मरीज 23 लोगों को संक्रमित कर सकता है, वायरस बंद जगहों में तेजी से फैल सकता है – health blogs

Coronavirus Airborne | Coronavirus Disease Latest Research; COVID Patient Can Infect 23 Passengers | एयरकंडीशन बस में कोरोना का एक मरीज 23 लोगों को संक्रमित कर सकता है, वायरस बंद जगहों में तेजी से फैल सकता है

  • Hindi News
  • Happylife
  • Coronavirus Airborne | Coronavirus Disease Latest Research; COVID Patient Can Infect 23 Passengers

एक महीने पहले

रिसर्च के मुताबिक, पूर्वी चीन में दो में से एक बस में संक्रमण के ऐसे मामले मिले। जिस बस में एक ही हवा बार-बार सर्कुलेट हो रही थी। उसमें कोरोना के संक्रमण फैलने का रिस्क ज्यादा था। -प्रतीकात्मक फोटो

  • 67 यात्रियों वाली बस में कोरोना का एक मरीज था, जिसमें लक्षण नहीं दिख रहे थे, उसने संक्रमण फैलाया
  • बस में उन यात्रियों को कोरोना का संक्रमण हुआ जो या तो आगे बैठे थे या पीछे, कोरोना के कण दूर तक फैले

67 यात्रियों वाली एयरकंडीशन बस में अगर कोरोना का एक मरीज है तो वह 23 लोगों को संक्रमित कर सकता है। यह दावा चीनी रिसर्चर्स ने अपने अध्ययन में किया है। रिसर्च कहती है कि कोरोना वायरस बंद जगहों में तेजी से फैल सकता है। भारत में अनलॉक का दायरा बढ़ाया जा रहा है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में भीड़ बढ़ रही है। इसलिए यह रिसर्च आपको सावधान करने वाली है।

अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, पूर्वी चीन में दो में से एक बस में संक्रमण के ऐसे मामले मिले। जिस बस में एक ही हवा बार-बार सर्कुलेट हो रही थी। उसमें कोरोना के संक्रमण फैलने का रिस्क ज्यादा था।

बस में एक सुपर-स्प्रेडर था, जिसमें लक्षण नहीं दिख रहे थे

19 जनवरी को चीन के झेजियांग प्रांत में हुई रिसर्च में सामने आया कि बस में एक सुपर-स्प्रेडर था, जिसमें बुखार और खांसी जैसे कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे थे। यह रिसर्च उस समय चीन में हुई थी, जिस समय मास्क पहनना अनिवार्य नहीं किया गया था।

बस में उन यात्रियों को कोरोना का संक्रमण हुआ जो या तो आगे बैठे थे या पीछे बैठे थे। संक्रमण के कण हवा से फैले।

रेस्टोरेंट में भी ऐसा ही मामला सामने आया

एक और ऐसी ही रिसर्च चीन के ग्वांगझाऊ में की गई है। रिसर्चर्स के मुताबिक, अगर रेस्टोरेंट में डिनर टेबल के बीच एक मीटर का दायरा नहीं है तो भी संक्रमण फैलता है। 24 जनवरी को चीन के एक रेस्टोरेंट में हुई रिसर्च में यह बात सामने आई। जिस रेस्टोरेंट में रिसर्च हुई वहां, तीन परिवार के लोग वहां खाना खाने पहुंचे थे।

वुहान से आए एक शख्स ने रेस्टोरेंट में फैलाया संक्रमण

वुहान से आया हुआ एक व्यक्ति रेस्टोरेंट में आया। उसे खांसी आ रही थी और अगले दिन उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 5 फरवरी तक साथ में डिनर करने वाले 9 और लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। यह रिसर्च अमेरिका के सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के जर्नल में प्रकाशित हुई है।

रिसर्च के मुताबिक, लगातार हवा का एक ओर झुकाव कोरोना के कणों को फैलाने में मदद करता है। अगर ऐसा किसी बंद जगह में हो रहा है तो खतरा और भी बढ़ जाता है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *