Is it necessary to bathe from outside and wash clothes daily and the mask is failing to prevent corona | क्या बाहर से आकर नहाना और रोज कपड़े धोना जरूरी है; क्या कोरोना को रोकने में मास्क फेल साबित हो रहा है

  • Hindi News
  • Happylife
  • Is It Necessary To Bathe From Outside And Wash Clothes Daily And The Mask Is Failing To Prevent Corona

एक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
  • सफदरगंज अस्पताल, नई दिल्ली के विशेषज्ञ डॉ. नीरज गुप्ता के मुताबिक, बाहर से आने के बाद कपड़ों को साबुन पानी से धोकर धूप में सुखाएं
  • सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों से बचें, मास्क जरूर लगाएं और अनलॉक में भी दिन में कई बार हाथों को साबुन-पानी से धोना न भूलें

क्या हर रोज बाहर से आने के बाद कपड़े धुलना जरूरी है और क्या मास्क कोरोना को रोकने में फेल हो गया है…ऐसे कई सवालों के जवाब सफदरगंज अस्पताल, नई दिल्ली के विशेषज्ञ डॉ. नीरज गुप्ता ने प्रसार भारती को दिए। जानिए अपने कोरोना से जुड़े सवालों के जवाब और एक्सपर्ट के जवाब…

Q-1: कोरोनाकाल में बाहर जाने पर क्या रोजाना कपड़े धोना जरूरी है?
अगर घर में हैं और बाहर नहीं जाना है तो, जैसे पहले कपड़े धुल रहे थे, वैसे ही धुलें, लेकिन अगर बाहर जा रहे हैं तो घर वापस आने के बाद कपड़ों को साबुन-पानी से जरूर धोएं और धूप में सुखाएं।

Q-2: क्या ऑफिस से घर आने पर नहाना जरूरी है?
आमतौर पर भी ऑफिस से या बाहर से घर आने पर हाथ-पैर धोते हैं। ये वक्त थोड़ा अलग है, अगर नहाना नहीं चाहते हैं तो कपड़े जरूर बदल लें और बाहर के कपड़ों को साबुन पानी से धो लें। साथ ही हल्के गर्म पानी से हाथ पैर धो लें, क्योंकि कई लोग एसिम्प्टोमेटिक होते हैं, अगर अनजाने में उनके संपर्क में आ गए हैं, तो वायरस से आप भी संक्रमित हो सकते हैं। इसके अलावा बाहर जाते समय सिर को कैप या गमछे आदि से ढक लें। ताकि अगर कोई खांसता या छींकता भी है तो सिर भी सुरक्षित रहेगा और वायरस का कण वहां नहीं पहुंचेगा।

Q-3: सोशल मीडिया पर चल रहा है कि वायरस को मास्क नहीं रोक पाता है, इस पर क्या कहेंगे?
आजकल मास्क भी कई तरह के मिल रहे हैं। सिंगल लेयर का, डबल लेयर और ट्रिपल लेयर का। वायरस के कण बहुत सूक्ष्‍म होते हैं, लेकिन जब ये बाहर आते हैं, तो मास्क उनकी गति को कम करता है और वो सामने खड़े व्यक्ति तक पहुंचने से रोकता है। अगर दोनों लोगों ने मास्क लगाया है तो वायरस डायरेक्ट मुंह, नाक में प्रवेश नहीं कर पाता। वहीं, जब सुरक्षित दूरी बना कर रहते हैं, तो वायरस के कण नीचे गिर जाते हैं। लेकिन ये कहना कि मास्क सुरक्षा नहीं देता गलत है। स्वास्थ्‍यकर्मी खास तौर पर मास्क लगाने से ही सुरक्षित हैं।

Q-4: क्या कार में अकेले ट्रेवल करते वक्त मास्क लगाना जरूरी है?
अगर कोई व्यक्ति अपनी गाड़ी में अकेला है, शीशे बंद हैं तो मास्क नहीं लगाने पर कोई चालान या जुर्माना नहीं है। लेकिन अगर दो लोग हैं या कोई ड्राइवर किसी यात्री को ले जा रहा है, तो मास्क जरूर लगाए। एक बात ध्यान रखनी है कि पुलिस से बचने के लिए नहीं, खुद को बचाने के लिये मास्क लगाए। क्योंकि आपको नहीं पता कि सामने वाला संक्रमित है या नहीं और अनजाने में वायरस कभी भी आप तक पहुंच सकता है।

Q-5: घर में अगर किसी को लक्षण नहीं है, तो क्या एक दूसरे का सामान प्रयोग कर सकते हैं?
अगर घर में कई लोग हैं, तो जब तक किसी का टेस्ट नहीं किया जाएगा तब तक पता नहीं चलेगा कि कोई संक्रमित है या नहीं। यानी कोई भी एसिम्प्टोमेटिक भी हो सकता है। ऐसे में अगर कोई एक भी एसिम्प्टोमेटिक हुआ तो तौलिया या कपड़े प्रयोग करने से संक्रमण हो सकता है। इसलिये कोशिश करें कि सभी लोग एक दूसरे का सामान प्रयोग न करें। अगर करना है तो उसे धुल कर प्रयोग करें।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *