Home Remedies for Dry Nose: सर्दियों में नाक सूखने की समस्‍या को न समझें मामूली, जानें ठीक करने के उपाय – home remedies to treat dry nose due to cold

सर्दियों के मौसम में सर्द हवाएं ठंड तमाम कोल्ड और फीवर के अलावा कई बीमारियों का कारण बन सकती हैं। जाड़े में तमाम लोग ऐसे हैं जिन्हें पूरी सीजन भर में जुकाम रहता है और उनकी नोज हमेशा स्टफी यानी भरी हुई या बहती रहती है। इसके अलावा बुखार, खांसी, मासपेशियों में दर्द न जाने कितनी परेशानियां जन्म लेती हैं।

नाक का हमेशा भरा रहने के कारण इसे रुमाल से साफ करते रहना कई बार आपको अससहज महसूस भी कराता है। इसके अलावा लोगों सूखी नाक के कारण कभी-कभी खुजली, लालिमा और यहां तक जलन भी होती है।

हानिकारक हो सकती है सूखी नाक

आपको बता दें कि सूखी नाक कई तरह के स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर सकती है। इस कारण साइनस की समस्या या फिर ज्यादा सिरदर्द जैसी परेशानी होने की संभावना बनी रहती है। इतना ही नहीं सांस संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। यह समस्या खासकर गर्मियों में देखने को मिलती है। बहरहाल, यहां हम आपको कुछ ऐसे घरेलू और आसान नुस्खे बता रहे हैं जिससे आप विंटर सीजन में सर्दी को छूमंतर कर सकते हैं। जानिए इसे दूर करने के तरीके।

बाथरूम में ही सबसे ज्‍यादा क्यों आते हैं Heart Attack

भाप यानी स्टीम

आम होम फेशियल ट्रीटमेंट यानी स्टीम भी सूखी नाक से राहत देने में आपकी मदद कर सकती है। स्टीम के लिए आप स्टीम स्टीमर से ले सकते हैं या फिर किसी बड़े बर्तन में पानी गर्म करके भाप ले सकते हैं। भाप लेने से पहले सिर को तौलिए से ढक लें और जितनी देर बर्दाश्त हो, भाप लें।

नेजल स्प्रे

अगर आप सूखी नाक की समस्या से परेशान हैं, तो आपके लिए नेजल स्प्रे बेहतर हो सकता है। यह नाक का मार्ग गीला करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इसका ज्यादा इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। अगर आप बहुत ज्यादा प्रयोग करेंगे, तो नाक सूखने लगेगी और श्लेष्मा झिल्ली यानि म्यूकस मेंब्रेन को नुकसान पहुंच सकता है।

बादाम तेल

बादाम का तेल नाक के सूखेपन को दूर करने का एक शानदार उपाय है। हालांकि, मात्र बादाम का तेल लगाने से यह समस्या आसानी से दूर की जा सकती है, लेकिन एलोवेरा जैल मिक्स करने से यह और भी अच्छी तरह से काम करती है। सूखी नाक की समस्या को दूर करने के लिए इन दोनों के मिश्रण को कॉटन बॉल की मदद से अपनी नाक के अंदर लगाएं।

ठंड के मौसम में जरूर करें शरीर की मालिश, जानें किस तेल से मिलेगा सबसे ज्‍यादा फायदा

पानी पिएं

सूखी नाक की समस्या अक्सर पानी की कमी से भी हो सकती है। गर्मी में अक्सर शरीर में पानी की कमी होती है, जिससे नाक में सूखापन आ जाता है। ऐसे में पानी पीना बहुत जरूरी हो जाता है। भरपूर मात्रा में पानी पीने से कई तरह की समस्या से बचा जा सकता है। आप इस मौसम में हल्का गुनगुना पानी पी सकते हैं।

नारियल तेल

हम सब नारियल तेल से जुड़े फायदों के बारे में जानते हैं। नाक में नारियल तेल लगाने से सूखापन दूर होता है और कोशिकाओं के बीच के अंतराल को भरकर दर्द दूर करने में मदद करता है। लेकिन ध्यान रहे अन्य किसी भी उपाय की तरह इसे भी ज्यादा न करें। एक दिन में नारियल के तेल की कुछ बूंदें सूखी नाक के लक्षणों को कम करने के लिए काफी होती हैं।

इन 10 तरीकों से बालों में करें नारियल के तेल का इस्तेमाल, मनचाहा मिलेगा परिणाम

विटामिन ई तेल

नारियल तेल की तरह ही विटामिन ई ओइल होता है जो सूखी नाक के लिए एक बहुत ही उपयोगी है। बाजार में खरीदने के लिए विटामिन ई तेल के कैप्सूल उपलब्ध हैं। आप इसे अपने नाक पर और उसके आसपास लगाने के लिए उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, त्वचा पर इस्तेमाल करने से पहले आप किसी त्वचा विशेषज्ञ से सलाह ले सकती हैं।

पेट्रोलियम जेली

सर्दियों के मौसम में पेट्रोलियम जेली का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। त्वचा को मॉइश्चराइज रखने के अलावा यह पोषण देने में भी मदद करती है। पेट्रोलियम जेली आपकी नाक में सूखी त्वचा को मॉइस्चराइज और हाइड्रेट करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। अपनी उंगलियों का उपयोग कर आप पेट्रोलियम जेली को नाक के अंदर ठीक से लगाएं। हालांकि, इसकी अत्यधिक मात्रा का उपयोग भूलकर भी न करें। इसे हर रोज न लगाएं सिर्फ सूखी नाक के समस्या के दौरान ही लगाएं। डेली प्रयोग करने पर आपके फेफड़ों के लिए गंभीर समस्याएं पैदा हो सकती है।

वेट वाइप्स यानी गीले हुए वाइप्स

इन दिनों अक्सर लोग नहाने के लिए गरम पानी का प्रयोग करते हैं। ऐसे में अगर आपको सूखी नाक की समस्या है तो आप गरम पानी से भीगे हुए बेबी वाइप्स का इस्तेमाल कर इस परेशानी को कम सकते हैं। गर्म पानी के गीले वाइप्स से नाक को साफ करें। गीले वाइप्स आपको बाजार में ऑनलाइन के साथ-साथ बाजारों में भी आसानी से मिल जाते हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *